हेलो दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम ATM की बात करने वाले हैं कि ATM क्या है , ATM full form , ATM full form in hindi और आज हम आपको ATM के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे तो चलिए प्रारंभ करते हैं।

Atm Full Form in hindi

ATM का प्रयोग हमारे जिंदगी में बहुत ‌‌तेजी से बढ़ रहा है। यदि हमें पैसे निकालने होते हैं तो अब हम बैंक में ना जाकर सीधे ATM जाते हैं और ATM मशीन से पैसे निकाल लेते हैं। परंतु क्या आपने कभी सोचा कि ATM का फुल फॉर्म क्या होता है? तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ATM का फुल फॉर्म क्या होता है?

ATM full form | ATM का पूरा नाम

दोस्तों हमें जब भी पैसे को बैंक से निकालना होता है तब हम सीधे एटीएम में जाकर एटीएम से पैसे निकाल लेते हैं। लेकिन हमें ATM का पूरा नाम क्या है?, यह नहीं पता होता है।

ATM full form : Automated teller machine
ATM का पूरा नाम Automated teller machine होता है।

ATM full form in hindi | ATM full form

दोस्तों हमारी इस पोस्ट को यहां तक पढ़ कर आप “ATM full form in English को जान गए होंगे। परंतु क्या आपको “ATM full form in hindi” के बारे में पता है। क्या आपको पता है कि हिंदी में ATM का फुल फॉर्म क्या होता है?

ATM full form in hindi : स्वचलित टेलर मशीन
हिंदी में ATM का पूरा नाम स्वचलित टेलर मशीन होता है।

ATM क्या है

चलिए अब हम जान लेते हैं कि ATM क्या है तो दोस्तों आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि ATM एक इलेक्ट्रॉनिक टेलीकम्युनिकेशन मशीन है, जिसकी मदद से हम बैंक में जमा राशि को बैंक जाने के बजाय एटीएम जाकर निकाल सकते हैं क्योंकि यह एक ऑटोमेटिक मशीन है तो इससे पैसों को निकालने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है।

इसे भी पढ़े :-

ATM के प्रकार | ATM कितने प्रकार के होते है?

आप यह जरूर सोच रहे होंगे कि क्या ATM के प्रकार भी होते हैं तो हम आपको बता दें कि हां एटीएम के प्रकार भी होते हैं।

1) Onsite ATM :  जो ATM बैंक के अंदर कार्यरत होते हैं, उन्हें Onsite ATM कहते हैं।

2) Offsite ATM : जो ATM बैंक के बाहर जैसे शॉपिंग मॉल, पेट्रोल पंप आदि जगह पर स्थित होते हैं, उन्हें Off site ATM कहते हैं।

3) Yellow Label ATM : जो ATM मुख्यतः ई-कॉमर्स के लिए कार्यरत होते हैं, उन्हें Yellow Label ATM कहते हैं।

ATM के Parts | ATM के कितने part होते है?

ATM के कई भाग होते हैं जैसे card reader, keypad, screen ,cash despenser आदि परंतु इन्हें मुख्यतः दो वर्गों में विभाजित किया गया है।
1) Input Parts
2) Output Parts

1) Input Parts

Input parts का मतलब होता है कि एटीएम का वह part जो आपके एटीएम कार्ड की जानकारी को एटीएम के अंदर भेजता है। ATM में मुख्यतः दो प्रकार के Input parts होते हैं।

1) Keypad : दोस्तों keypad ATM का वह हिस्सा होता है जिसकी मदद से आप अपने ATM PIN जैसी जानकारी को एटीएम में enter करते हैं एवं और भी सुविधा लेते हैं। जैसे enter, cancle, clear आदि।

2) Card reader : Card reader ATM ka vah hissa होता है जिसकी मदद से आप अपने कार्ड को एटीएम के अंदर डालते हैं और card reader आपके एटीएम की जानकारी को पढ़कर एटीएम की screen पर दिखाता है।

2) Output parts

Output part का मतलब होता है कि एटीएम का वह  part जो आपके द्वारा डाली गई जानकारी को बाहर निकालता है या फिर आपको दिखाता है, यह निम्न प्रकार के होते हैं।

Moniter or Screen : जिस प्रकार से कंप्यूटर में एक मॉनिटर होता है, उसी प्रकार से एटीएम में भी एक मॉनिटर होता है जिसका कार्य आपके अकाउंट से संबंधित सभी जानकारी को दिखाना होता है और आप इसी screen पर देख कर ही पैसों को निकालते हैं।

Receipt Printer : दोस्तों यह एटीएम का वह part होता है जिसमें से एक रसीद निकलता है जिसमें आपके खाते से निकाली गई राशि एवं अन्य जानकारियां होती है।

Cash despenser : दोस्तों यह एटीएम का वह part होता है जहां से आप के द्वारा निकाले गए पैसे बाहर आते हैं|

ATM के कार्य

  • ATM के द्वारा आप पैसों को निकाल सकते हैं।
  • ATM के द्वारा आप पैसों को जमा कर सकते हैं।
  • ATM के द्वारा आप अपना PIN बना सकते हैं।
  • ATM के द्वारा मोबाइल नंबर को बदला जा सकता है।
  • ATM के द्वारा आप किसी दूसरे के खाते में पैसे भेज सकते हैं।
  • ATM के द्वारा आप bills pay कर सकते हैं

ATM के लाभ

  • पहले पैसों को निकालने के लिए हमें बैंक जाना पड़ता था पर अब यह कार्य एटीएम द्वारा हो जाता है।
  • एटीएम के द्वारा पैसों को निकालने में ज्यादा सुविधा होती है।
  • एटीएम की सुविधा 24 * 7 होती है जिसकी मदद से आप कभी भी पैसों को निकाल सकते हैं।

ATM कैसे काम करता है?

ATM से पैसे को निकालने के लिए सबसे पहले आपको अपने एटीएम कार्ड को Card Reader में डालना होगा। तब यह आपकी एटीएम में उपस्थित जानकारी को एटीएम में पहुंचाता है। तब स्क्रीन पर आपसे आपका PIN पूछा जाता है। जब आप अपना पिन डालते हैं तब यह आपके पिन को verify कर आपसे ammount इंटर करने को कहता है और जब आप ammount इंटर करते हैं तब cash despenser के द्वारा आपके पैसों को बाहर निकाल दिया जाता है।

आज आपने क्या सीखा

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने जाना कि ATM का फुल फॉर्म क्या होता है? और इसके साथ ही हमने यह भी जाना कि ATM full form, ATM full form in hindi, ATM क्या होता है?, ATM के क्या कार्य हैं?, ATM के लाभ एवं ATM के parts baare mein jaaana दोस्तों यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

दोस्तों इस पोस्ट में हमने आपको पूरी तरह से समझाने की कोशिश की है कि ATM का फुल फॉर्म क्या होता है?, एटीएम के क्या कार्य हैं?, एटीएम क्या होता है? दोस्तों यदि इस पोस्ट में आपको कहीं भी कोई भी समस्या आई है तो आप नीचे जरूर कमेंट करके पूछ ले। धन्यवाद।

Previous articleWiFi full form in hindi | WiFi का फुल फॉर्म क्या होता है?
Next articleRTA full form in hindi | RTA का फुल फॉर्म क्या होता है?
हेलो मेरा नाम धीरज है। मैं इस ब्लॉग का Author और लेखक हूं। मैं अभी कॉलेज में पढ़ता हूं और मैं अभी ग्रेजुएशन कर रहा हूं। मैं word के short form के Full Forms को fullformshindi.in पर आपके साथ share करता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here